Thursday, November 1, 2018

Dark parts of the internet

Dark parts of the internet

Dark parts of the internet
Dark parts of the internet

Dark parts of the internet - Internet जोकि अभी इस दुनिया में बोहोत ज़रूरी है। Internet एक एडिक्शन बनता जा रहा है। आजकल सभी काम Internet सेही होता है और बोहोत तेजीसे होता है।

आपको जान कर बोहोत आश्चर्य होगा की जिस Internet को आप जानते हो वो सिर्फ इंटरनेट का 4% पार्ट ही है।

 जो भी हमे पता है जोभी हम देखते है वो internet की दुनिया का सिर्फ 4% ही है। तो अब आप पूछोगे की बाकीका 96% क्या है। तो वो बाकी का पार्ट वो है जिसके बारेमे आप नही जानते।

Internet basically 3 part में devided है। और जो हमे पता है और जो हमे दिखताहै वो सिर्फ इसका 1 part ही है।वो 3 पार्ट इस प्रकार है।

  1. Surface Web
  2. Deep Web
  3. Dark Web

इससे आपको पता चल जाएगा की आखिर इंटरनेट का डार्क पार्ट क्या है और किसे कहते है।

Also read - Games Like Fortnite On Android


Surface Web


ये बोहोत ही सिंपल है। ये वो इंटरनेट है। जिसे आप जानते है और रोज यूज़ भी करते हो वो होता है surface web। 

example के तौर पे अगर हम गूगल या किसी भी और सर्च इंजिन पे कुछ सर्च करते है और हमे जो रिजल्ट मिलता है और जो भी pages या content google में index होता है या फिर दूसरे सर्च इंजिन पे index होता है वो ही Surface web होता है।

जोभी वेबसाइट के owner होते है और वो website या उसके content को पब्लिकली पब्लिश करते है यानी उस डेटा या pages को देखने या access करनेके लिए किसीकी आज्ञा की ज़रूरत नही होती यानी online हम कहिसेभी उसे access कर सके उसको ही surface web कहते है।

आपको जानकर हैरानी होगी की इंटरनेट की दुनिया में सिर्फ 4% पार्ट ही surface web है। बाकी के 96% पार्ट है वो Deep web और Dark web है।


Deep Web


अभी जोभी हमने ऊपर देखा की इंटरनेट की दुनिया में जोभी हमे दिखाया जाता है उसे surface web कहते है। उसी के ठीक उल्टा है deep web यानी जो कुछ भी हमसे छुपाया जाता है जो कुछ भी सर्च इंजिन में index नहीं होता वो साराका सारा पार्ट deep web होता है।

इस deep web को access करनेके लिए आपको एक specific URL और Id और password की ज़रूरत पड़ती है। उस id और password से आप जोभी access करना चाहो कर सकते हो। ये content आपको   किसीभी सर्च इंजिन में सर्च करने पर नही मिलेगा क्योकि ये index ही नही होता।

क्योकि ये जो फाइल्स होती है वो बोहोत ही sensitive होती है confidential होती है। तो अगर आप इसको access करना चाहते हो तो आपके पास id और password होना ज़रूरी है।

अब यहापर आप थोड़े confuse हो रहे होंगे तो इसे में आपको एक example देके समजाता हु मानलीजिए की facebook है और इसपे आप अपना id और password डालके एक account create करते है। अब वहापे आप photos वगेरा शेयर करते हो और आप उसे public रखते हो अब अगर आप public रखते हो तो उसे कोई भी देख सकता है किसीभी id से और किसीभी सर्च इंजिन में वो शॉ कर सकता है। तो यहापर वो surface web कहलाता है। 

अगर आप किसीभी photo वगेरा को प्राइवेट रखते हो तो वो कही पे भी शॉ नही करता ये index भी नही होगा तो उसे देखनेके लिए आपको facebook का login id और password चाहिए तभी आप उसको देख सकते हो या access कर सकते हो तो इस तरह की फ़ाइल जैसे की Id और password बोहोत ही sensitive होते है और ये सर्च इंजिन में index नही होते।तो इस तरह के डेटा को deep web कहते है।

अगर आप किसी भी खास डेटा को या content को इंटरनेट में सेव करना चाहते है और आप चाहते हो इसे कोई न देखे और इसको प्राइवेट रखना चाहते हो। तो ऐसे डेटा को deep web कहते है।


Dark web


ये information जो में दे रहाहु  उसे सिर्फ education के तौर पेही ले और dark web को access करनेकी कोशिश ना करे ये illegal है कही आप  कोई लाफ़डेमे ना फसजाओ।

आखिर में आता है dark web जैसे की नाम से ही लग रहाहै डार्क यानी काला वेब इसमे सिर्फ illegal काम ही होतेहै।

 जैसे की drugs,guns, खरीदना बेचना, और ऐसे ही बोहोत सारे गैरकानूनी business चलते है। और यहापे पेमेंट भी bitcoin के द्वारा किया जाता है। अब bitcoin द्वारा हुआ transaction तो end to end encrypted होता है और ये किसीभी सरकारी संस्था या बैंक से तालुक नही रखता तो इन illegal business के लिए bitcoin का उपयोग किया जाता है। जिससे उन गैरकानूनी business करने वालोको पकड़े जानेका खतरा नही रहता।

Dark web को access करनेके लिए आपको एक स्पेशल browser की ज़रूरत पड़ती है जिसे हम Tor browser कहते है।

तो दोस्तो इस Dark web से आप जितने दूर रहो उतना अच्छा होगा और इसे सिर्फ education के और पेही ले।

0 Comments:

Post a Comment